in

ताजमहल को लेकर छिड़े विवाद में कूदा RSS, ऐसा बयान दिया कि हलचल मच जाएगी !

ताजमहल को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है, कुछ दिन पहले ताजमहल को लेकर विवादित टिप्पणी हुई तो यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने मौके की नजाकत को समझते हुए 26 अक्टूबर को आगरा का दौरा कर डाला. इसके बाद भी विरोधियों का मन नही भरा तो कहा गया कि ‘ये दौरा केंद्र के दवाब में था और ये बताने की कोशिश थी कि बीजेपी विधायक संगीत सोम के बयान से पार्टी इत्तेफाक नही रखती है.’ फ़िलहाल CM योगी ताजमहल भी गये और अंदर जाकर भ्रमण किया, इस दौरान योगी ने सफाई अभियान को बल देने के लिए झाड़ू भी उठाई. इतना ही नही योगी ताजमहल पहुंचे तो जय श्रीराम के नारे भी लगे. इस नारे की गूंज इतनी थी कि सर्मथकों पर सुकून की बारिश होने लगी. फ़िलहाल अब ताजमहल को लेकर एक और नया विवाद जुड़ गया है.

बता दें कि आजतक की खबर के मुताबिक ताजमहल को लेकर छिड़े इस विवाद में अब RSS की इतिहास विंग अखिल भारतीय इतिहास संकलन समिति (ABISS) ने अपना अलग राग छेड़ दिया है. वैसे ये राग बहुत बेसुरा भी नही है, क्योंकि अभी योगी के आगरा दौरे से पहले दीपक शर्मा नामक युवक और हिंदू युवा वाहिनी के कुछ कार्यकर्ताओं ने ताजमहल के अंदर शिव चालीसा पढ़ने का काम किया तो CISF के जवानों ने उनसे माफीनामा लिखवाकर छोड़ दिया लेकिन बात यहां ख़त्म नही होती. इस वाकये के बाद अब चर्चा जोरों पर है कि अगर ताजमहल एक राष्ट्रीय संपत्ति है, तो उसमें हर शुक्रवार नमाज क्यों पढ़ी जाती है.

 

बता दें कि ABISS के नेशनल सेकेट्ररी डॉ. बालमुकुंद पांडे ने कहा कि ‘सबसे पहले तो किसी भी सरकारी संपत्ति का धार्मिक इस्तेमाल नही होना चाहिए और इसको देखते हुए ताजमहल में हर शुक्रवार के दिन होने वाली नमाज बंद होनी चाहिए वरना हिन्दुओं को भी चालीसा पढ़ने दिया जाना चाहिए.’ ABISS राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की इतिहास विंग है और इसका मकसद भारतीय इतिहास को राष्ट्रवाद से लिखना है और गलत इतिहास को सही तरीके से पेश करना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जिसकी दुनिया प्यार की कसमे खाती फिरती है उसने हिन्दू महिलाओं और अपनी बेटी के साथ भी ..

सीएम योगी का यूपी की जनता के लिए बेहतरीन तोहफा, जानकर खुश हो जायेंगे आप !