in

लखनऊ मदरसा कांड के बाद मुस्लिमों ने उड़ाई सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की धज्जियां, योगी जी समेत PM मोदी भी हैरान..

रामपुर : तीन तलाक के खिलाफ बिल लोकसभा में तो पास हो गया है और अब राज्यसभा में पास होने का इन्तजार कर रहा है. मगर इसी दौरान देश में बेहद चौंकाने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं. सबसे पहले तो रामपुर में एक शौहर ने क़ानून व्यवस्था को धता बताते हुए अपनी बीवी को तीन तलाक दे दिया और उसके बाद गाँव के लोगों ने ऐसा फरमान सुना दिया, जिसने सभी को शर्मिन्दा कर दिया है.

angry_muslims_JIDF.jpg (474×350)

वापस ससुराल जाने के लिए कराना पड़ेगा ‘हलाला’
रामपुर में हुए तीन तलाक के चर्चित मामले में अब नया मोड़ आ गया है. गांव की पंचायत ने दोनों मिंया-बीवी के बीच सुलह तो करा दी है मगर शरिया क़ानून की एक और कुप्रथा लड़की पर थोप दी है. इसके मुताबिक़ लड़की को अब अपना हलाला करवाना पडेगा, तभी वो अपनी शौहर के साथ रह सकती है.

क्या है हलाला
हलाला यानी ‘निकाह हलाला’. शरिया के मुताबिक अगर एक पुरुष ने औरत को तलाक दे दिया है तो वो उसी औरत से दोबारा तब तक शादी नहीं कर सकता जब तक वह औरत किसी दूसरे पुरुष से शादी कर तलाक न ले ले. यानी बीवी को किसी मौलाना अथवा किसी अन्य मुस्लिम शख्स के साथ सम्बन्ध बनाने होंगे.

islam-protest-afp.jpg (1500×1000)

इद्दत भी पूरी करनी होगी
पंचायत का फरमान है कि कासिम की बीवी को तीन महीने दस दिन की इद्दत भी पूरी करनी होगी. यानी दूसरे शौहर से तलाक लेने के बाद लडक़ी मायके वापस आएगी और इद्दत के तीन महीने बिना किसी पराए आदमी के सामने आए पूरा करेगी, ताकि यदि वो प्रेग्नेंट हो तो ये बात सभी के सामने आ जाए. जिससे उसके ‘चरित्र’ पर कोई उंगली न उठा सके और उसके बच्चे को नाजायज़ न कहा जा सके.

प्रेम विवाह करके भुगतना पड़ा ये अंजाम
जिले के थाना अजीमनगर क्षेत्र के गांव नगलिया आकिल के रहने वाले कासिम को अपने ही गांव की गुलफशां नाम की लड़की से मोहब्बत हो गई. काफी दिन तक प्रेम-प्रसंग चलता रहा, जिसके बाद दोनों ने एक-दूसरे से निकाह करने की मंशा जताई तो दोनों के परिवारों ने मना कर दिया और कोई भी इस निकाह के लिए राजी नहीं हुआ.

angry-muslims.jpg (266×311)

अपने परिवार की परवाह ना करते हुए लड़की ने कासिम से निकाह कर लिया लेकिन कुछ ही दिन में कासिम के सर से प्यार का भूत उतर गया और उसने छोटी-छोटी बात पर अपनी बीवी को मारना-पीटना शुरू कर दिया.

देर से सोकर उठती थी गुलफशां
बेचारी गुलफशां का सिर्फ इतना ही दोष था कि उसे सुबह देर तक सोने की आदत थी. इसी बात पर नाराज शौहर कासिम ने उसे तीन तलाक दे दिया. उसे घर से बाहर निकालकर कासिम खुद दरवाजे पर ताला डालकर गायब हो गया.

हलाला के बाद ही रह सकेंगे साथ
मामला आखिरकार पुलिस तक पहुंच गया. गुलफशां ने अपने शौहर कासिम द्वारा मारपीट करने और तीन तलाक देने की शिकायत पुलिस से की. इस पर पुलिस ने मामले को सुलझाने का आश्वासन गुलफशां को दिया लेकिन बात नहीं बनी. आखिरकार गांव के लोगों ने दोनों के बीच में सुलह तो कराई मगर मुस्लिम महिलाओं की लड़कियों का शारीरिक शोषण करने और कठमुल्लों के बिस्तर गर्म करने की कुप्रथा सामने आ गयी.

sc.jpg (960×522)

अब पंचायत, ग्राम प्रधान, व धार्मिक उलेमा सभी उस बेचारी लड़की पर जोर डाल रहे हैं कि वो किसी और शख्स से निकाह करके उसके साथ सम्बन्ध बनाये. तभी अपने पिछले शौहर के साथ दोबारा निकाह कर सकती है. हालांकि यहाँ सवाल ये भी है कि जब तीन तलाक देना ही नाजायज है तो तलाक हुआ ही कहाँ? और जब तलाक हुआ ही नहीं तो हलाला की बात कहाँ से आयी?

दुनिया का सबसे बड़े लोकतंत्र में आखिर कबतक हलाला जैसी कबिलाई कुप्रथाओं के आधार पर मुस्लिम महिलाओं का शोषण होता रहेगा?

 

ऐसे हुआ था गांधारी के 100 पुत्रों का जन्म, पहली बार यहाँ जानें उन सभी के नाम

एक बार फिर योगी सरकार की मदरसों पर जबरदस्त कार्यवाही, तीसरी आँख से पकड़ में आया ये बड़ा काला कारनामा…