in ,

ख़ुद CM योगी ने UP में भाजपा की इस महिला नेता को करा दिया गिरफ़्तार, कारण जानकार दंग रह जाएँगे आप

CM योगी आदित्यनाथ के पारदर्शी प्रशासन का ये Example पढ़कर तो विरोधी भी योगी आदित्यनाथ की जय जयकार कार उठंगे , असल में उन्होंने काम ही ऐसा किया है  , भाजपा के राज में भाजपा नेता के भ्रष्टाचार को बर्दाश्त ना करने का काम कुछ ही नेता कर सकते हैं, CM योगी उनमे से एक हैं।

ग़ौरतलब है कि जेल जाने से बचाने के नाम पर रिश्वत लेना भाजपा की एक महिला नेत्री को बेहद महंगा पड़ गया क्यूँकि उसकी शिकायत CM योगी तक जा पहुँची। बता दें कि पीड़ित द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत के बाद UP पुलिस ने भाजपा की इस महिला नेत्री को गोरखनाथ पुल से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया , एक केस में आरोपी युवक को छुड़ाने के बदले में दी गई 50 हजार रुपये की नक़द रकम भी भाजपा की महिला नेत्री के घर से बरामद कर ली गयी है।

मामले की बात करें तो भाजपा की इस महिला नेता पर मोबाइल चोरी में पकड़े गए युवक को बचाने के बदले में 50 हजार रुपये एँठने का आरोप लगा है  , इतनी बड़ी रकम देने के बाद भी जब युवक जेल गया तो इसके परिजनों ने सीएम योगी से शिकायत कर दी , हालाँकि युवक के परिजन तब कुछ ना बोलते यदि रिश्वत से उनका काम हो जाता इसलिए दोषी वे ख़ुद भी हैं।

आगे की करवाई करते हुए कूड़ाघाट आवास विकास कालोनी की रहने वाली भारतीय जनता पार्टी महानगर में मंत्री सरिता सिंह पर आरोप है कि उन्होंने मोबाइल छीनने के आरोप में 13 अक्तूबर को कैंट पुलिस द्वारा पकड़े गए हर्षित पाण्डेय ( आरोपी) को जेल जाने से बचाने का वायदा किया ।  उन्होंने हर्षित के गिरफ्तार न किए जाने के एवज में 50 हजार रुपये की मांग की । हर्षित की मां रीता पाण्डेय ने बेटे को छुड़ाने के लिए कैंट थाने पहुंची थी जहां उनकी मुलाकात भाजपा नेत्री से हुई थी । भाजपा नेत्री ने रकम की मांग करते हुए छुड़ाने का आश्वासन दिया था ,  उसी दिन रीता ने पैसे का इंतजाम कर सरिता को रकम दे दी थी।

लेकिन उसके बाद भी हर्षित जेल चला गया तो हर्षित के परिजन भाजपा नेत्री से रकम वापस मांगने लगे लेकिन सरिता सिंह लौटा नहीं रही थी। शुक्रवार को इसी बात की शिकायत लेकर हर्षित के परिजनों ने अपनी पड़ोसी रिश्तेदार प्रभा पाण्डेय के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर शिकायत की प्रभा पाण्डेय इलाहीबाग तिवारीपुर की निवासी हैं ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्काल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को इस मामले में कार्रवाई करने के आदेश दिए और भाजपा नेता को गिरफ़्तार करने को कहा। उसके बाद तो बिजली की तेज़ी से पुलिस सक्रिय हो गयी और सरिता सिंह को ना केवल पकड़ा बल्कि उनके घर से 50 हजार रुपये की रकम बरामद की , आगे की करवाई के लिए सरिता सिंह को महिला थाना लाया गया जहां उनकी गिरफ्तारी संबंधी औपचारिकताएं पूर्ण की गई । महिला थाना की एसएचओ शालिनी सिंह ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि भाजपा नेता सरिता सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 419, 420 और 406 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज कर उसको गिरफ्तार कर लिया है ।

The post ख़ुद CM योगी ने UP में भाजपा की इस महिला नेता को करा दिया गिरफ़्तार, कारण जानकार दंग रह जाएँगे आप appeared first on Hindutva

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बड़ा खुलासा : स्कूल में कैसे रची गई मासूम के कत्ल की साजिश ? जानिए प्रद्युम्न के आखिरी 10 मिनट कैसे थे

Video: बांग्लादेश की वो घिनौनी सच्चाई, जिसे जानकर आपकी रूह काँप जाएगी