in

कश्मीर में मोदी सरकार का धमाकेदार एक्शन,28 साल बाद हुआ वो कारनामा जिससे हिन्दुओं में मची धूम

नई दिल्ली : देशभर में मोदी के विरोधी प्रचार फैलाते रहते हैं और तीन साल में विकास-विकास चिल्लाते रहते हैं. जबकि उनसे उनके 60 साल का ब्यौरा मांग लो तो उलटे पैर भाग लेते हैं. ऐसी ही एक बेहद शानदार खबर आ रही है जिसमें कश्मीरी पंडितो का आज मोदी सरकार में वो चैन-सुकून मिला जो पिछले 28 सालों में नहीं हुआ.

Image result for modi

मोदीराज में 28 साल बाद कश्मीरी पंडितों के सच हुए सपने
अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक कल पूरे देश में धूमधाम से दशहरे का त्यौहार मनाया गया. लेकिन कल का दशहरा सबसे ज़्यादा ख़ास था कश्मीरी पंडितो के लिए क्यूंकि मोदी सरकार में वो चमत्कार हो सका जिसका उन्हें पूरे 28 सालों तक इंतज़ार करना पड़ा. 28 सालों बाद कश्मीर के अनंतनाग में कश्मीरी पंडितों ने रावण दहन किया और दशहरा जोरशोर से मनाया और पूरे कश्मीर में जय श्री राम के नारे गूंजने लगे. जो की मोदी सरकार की एक बड़ी उपलब्धि के रूप में देखा गया.

 

बुराई पर अच्छाई की जीत हुई
जिन कश्मीरी पंडितों के साथ बड़े स्तर पर नरसंहार किया गया और कश्मीर से निकाल दिया गया. उन्होंने वापस अपनी जमीन पर जाकर बुराई पर अच्छाई की जीत के इस पर्व को मनाया. आपको बता दें अनंतनाग आतंकवादियों का गढ़ कहा जाता है. लेकिन त्यौहार के मौके पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे जिसके चलते पूरा कार्यक्रम अच्छे से बिना किसी रूकावट के पूर्ण हो सका.

 

जय श्री राम के नारों से गूँज उठा कश्मीर
यह अवसर कश्मीरी पंडितों को मोदी राज में ही मिल सका और बड़े हर्षो-उल्लास के साथ जम्मू-कश्मीर में दशहरे का त्योहार मनाया गया. 28 साल बाद कश्मीरी पंडितों को रावण का पुतला दहन करने का गौरव प्राप्त हुआ. यही नहीं शनिवार को विस्थापित पंडितों की कॉलोनी में दशहरा मनाया गया. इस त्यौहार को जम्मू में भी बड़ी ख़ुशी के साथ मनाया गया इतना ही नहीं सनातन धर्म सभा और सनातन धर्म नाटक समाज की तरफ से इस मौके पर शोभा यात्रा भी निकाली गई. जिससे पूरा इलाका जय श्री राम के नारों से गूँज उठा.

आतंकवादियों का हो रहा तेज़ी से सफाया
दरअसल मोदी सरकार में सेना को खुली छूट मिलने के बाद सेना ने युद्धस्तर पर ऑपरेशन आल आउट और ऑपरेशन कासो चलाये हुए हैं. जिससे इस साल ने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 158 आतंकवादी को मार गिराया है. जिनमें बुरहान वानी, सबज़ार भट आदि जैसे खूंखार लश्कर हिज़्बुल के कमांडर के नाम शामिल हैं. साथ ही सेना ने 150 खूंखार आतंकवादियों की लिस्ट बना रखी है जिसका भी सफाया हो रहा है.

अलगावादियों की हो रही गिरफ्तारी
इसके साथ-साथ इनके आतंकवादियों और पत्थरबाजों की मोदी सरकार ने कमर तोड़ दी है. क्यूंकि इनके सबसे बड़े एटीएम मशीन हैं ये अलगाववादी जिनपर छापेमारी और गिरफ्तारी करी जा रही है. साथ ही इनके करोड़ों रुपयों की संपत्ति जब्त करी जा रही है. जिसके परिणामस्वरूप आज अलगाववादी शब्बीर शाह लम्बे वक़्त के लिए अंदर ठूसे जा चुके हैं क्यूंकि इनके अब हाफिज सईद से रिश्ते का खुलासा भी हो चुका है. ीासे ही एक एक करके सभी अलगावादियों को लम्बे समय के लिए जेल में सड़ाया जाएगा.

इसके साथ अब मोदी सरकार ने कश्मीर से आर्टिकल 35 (a) को ख़त्म करने की भी तैयारी पूरे जोर शोर से चल रही है. जिसके तहत देश का कोई भी आम नागरिक कश्मीर में जाकर ज़मीन खरीद सकेगा और एक बार फिर कश्मीरी पंडितों को इंसाफ मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मोदी की अन्तराष्ट्रिय कूटनीति से घबराया पाकिस्तान – ज़ैद हामिद ने की मोदी की तारीफ़ !!

भारत में घुसपैठ करनें के लिए पाकिस्तान अपनी तरफ से खोद रहा था सुरंग, जब बीएसएफ को लगी जानकारी फिर