in

इजरायल की महिला सैनिकों ने कहा- ड्यूटी पर बंदूक चलाने से ज्यादा करना पड़ता है सेक्स

New Delhi : इजरायल की सेना में यौन शोषण का मामला सामने आया है। महिलाओं ने साथी फौजियों द्वारा रेप करने का आरोप लगाया है

इजरायल की सेना में महिलाओं की हालत भी ठीक नहीं। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के अनुसार 10 में से 6 महिला सैनिक यौन शोषण का शिकार हो रही हैं। द येरूशलम के अनुसार इजरायल की महिला सैनिकों ने पिछले दिनों अपने एक ब्रिगेडियर के खिलाफ शिकायत की। शिकायत में महिला सैनिकों ने कहा कि हमें ड्यूटी पर बंदूक चलाने से ज्यादा सेक्स करना पड़ता है। ड्यूटी पर किसी ना किसी बहाने से हमारे सीनियर हमसे यौन संबंध बनाते हैं।

महिला सैनिकों ने  ब्रिगेडियर पर आरोप लगाते हुए कहा कि ब्रिगेडियर बिना पूछे हमारे बंकर में घुस आते हैं और फिर हमारा रेप करते हैं। रेप करने के बाद हमें प्रमोशन का लालच भी दिया जाता है।
बता दें कि इजरायली न्यूज वेबसाइट के अनुसार पिछले साल ही 24 पुरुष सैनिक महिला सैनिकों से रेप के आरोप में गिरफ्तार किए गए हैं। जिन्हें मिलट्री पुलिस की कस्टडी में रखा गया है।

वहीं,  इजरायल के ही महिला सैनिकों के एक ग्रुप ने सिर्फ अंडरवियर पहने और हाथों में कुछ हथियार लेकर फोटो खिंचावाई और उसे फेसबुक पर अपलोड कर दिया।

घटना के सामने आने के बाद सेना ने आरोपी सैनिकों के खिलाफ अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की है। इससे पहले भी इजरायली सेना के कई युवा सैनिकों को फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स में आपत्तिजनक सामग्री अपलोड करने पर सेना से फटकार मिल चुकी है।

ताजा मामला दक्षिण इजरायल के मिलिट्रि बेस का है, जहां आरोपी महिलाओं की कुछ समय पहले ही नियुक्ति हुई थी। फेसबुक पर अपनी आपत्तिजनक तस्‍वीरें अपलोड करने के आरोप में इन महिला सैनिकों के खिलाफ सेना ने कार्रवाई की है। फेसबुक पर अपलोड एक फोटो में महिला सैनिक अपने अंडरवियर दिखाने के लिए वर्दी उतारते हुए दिख रही हैं। वहीं, एक दूसरी तस्‍वीर में 5 महिलाएं बैरक में दिखाई दे रही हैं, जहां उन्‍होंने सिर्फ हेलमेट पहना है और उनके हाथ में कुछ हथियार हैं। फोटो में सैनिकों के चेहरे ब्‍लर यानी कि धुंधले कर दिए गए हैं।

सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘अधिकारियों ने आरोपी सैनिकों को अनुशासित कर दिया है।’ हालांकि बयान में सैनिकों की पहचान गुप्‍त रखी गई है और उन्‍हें दी गई सजा के बारे में भी नहीं बताया गया है। सेना के अधिकारियों का कहना है कि सैनिक फिर से इस तरह का काम ना करें इसके लिए मिलिट्री बेस में शैक्षणिक व्‍याख्‍यान आयोजित किए गए।

हाल के वर्षों में कई बार इजरायली सेना ने सोशल मीडिया साइट्स में अनुचित सामग्री पोस्‍ट करने पर अपने सैनिकों को दंडित किया है। साल 2010 में यूट्यूब में एक वीडियो पोस्‍ट किया गया था जिसमें एक इजरायली सैनिक फिलिस्‍तीनी महिला के चारों ओर नाच रहा था। उस महिला की आंख में पट्टी बंधी थी। इससे पहले इजरायली महिला सैनिकों ने फिलिस्‍तीनी कैदियों के साथ तस्‍वीर खींचकर उसे सोशल मीडिया साइट्स पर अपलोड कर दिया था।

इन घटनाओं के बाद इजरायली सेना ने सैनिकों के बेस में रहते हुए सोशल मीडिया साइट्स के इस्‍तेमाल पर पाबंदी लगा दी ताकि इस तरह की पोस्‍ट से होने वाली परेशानी से बचा जा सके। हालांकि यह साफ नहीं है कि अभी भी यह प्रतिबंध कायम है या नहीं।

इस साल की शुरुआत में भी एक अन्‍य सैनिक को फिलिस्‍तीन विरोधी ट्वीट्स करने और दूसरी सोशल मीडिया साइट्स में बंदूक के साथ नग्‍न तस्‍वीर अपलोड करने पर सेना से कड़ी फटकार मिली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

30 लोगों का है ये सबसे छोटा देश, यहां ना तो किसी के पास पासपोर्ट है और ना ही कोई करेंसी

800cc इंजन, 650kmph की रफ्तार.. इस भारतीय ने 2 साल में बना डाली ये भारी भरकम बाइक