in

राजस्थान सरकार का ऐतहासिक कदम, देशभक्तो की लिस्ट से नेहरू का नाम हटाया गया

आपको बता दें की पहले की पुष्तक में नेहरू का नाम सबसे पहले था और लिखा हुआ था की, नेहरू ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी और फिर भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री बने.

ये तो सच है की नेहरू ही पहले PM बने पर ये सरासर झूठ लिखा था की नेहरू ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी, हम सब जानते है नेहरू ने सिर्फ अंग्रेजी महिलाओ में अपना समय बिताया

jacqueline-kennedy_pandit_nehru

पर आज़ादी के बाद से ही किताबो में नेहरू की तारीफ लिख दी गयी जिस से पीढ़ी दर पढ़ी गुमहार हो रही थी.

राष्ट्रवादियों के बीच राजस्थान सरकार के इस फैसले की जम कर तारीफ हो रही है वहीँ सेक्युलरपंथी इस फैसले से भड़क गए है.

आपको बता दें की राजस्थान सरकार ने महान लोगो की लिस्ट से अकबर का भी नाम हटा दिया है

इसपर भी सेक्युलरपंथी बवाल मचा चुके है.
राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग ने ऐतिहासिक फैसला लिया है.
अब स्कूलों में नेहरू की नहीं पढाई जायेगी तारीफ.
देशभक्तो की लिस्ट से नेहरू का नाम हटाया गया.
राजस्थान के शिक्षा विभाग ने नयी पुस्तक छापी है इस पुष्तक में वीर सावारकर, नेताजी बोस, बाल गंगाधर तिलक, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद इत्यादि सभी देशभक्तो का नाम है.
पर जवाहर लाल नेहरू का नाम नहीं है.

भैया दूज 2017: इस शुभ मुहूर्त में लगाएं भाई को तिलक होगी लम्बी उम्र और भविष्य उज्ज्वल !

कैसे कांग्रेस की तानाशाह अध्यक्षा सोनिया गाँधी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री को कुर्सी से उठाया था !