in

कोर्ट के फैसले के बाद आमने सामने हैं पुलिस और पटाखा कारोबारी, पटाखा बेचने की नई तरकीब से परेशान पुलिस वाले!

दिल्ली एनसीआर में सुप्रीम कोर्ट द्वारा पटाखा बेचने पर रोक लगाये जाने के बाद पटाखा कारोबारी खफा और परेशान हैं. पटाखा कारोबारियों ने पहले से ही स्टॉक जमा कर लिया था और अब रोक लग जाने से उन्हें बड़ा नुकसान होने की संभावना है. ऐसे में इन पटाखा कारोबारियों ने पटाखा बेचने के लिए नई तरकीब निकाली है. वही पुलिस का कहना है कि वो पटाखा बिक्री को रोकने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

आपको बता दें कि दिल्ली एनसीआर में पटाखा बिक्री पर रोक लगने से कारोबारियों को बड़ा नुकसान होने की संभावना है. ऐसे में स्टॉक किये गये कुछ पटाखों को कारोबारी ऑनलाइन और सोशल मीडिया द्वारा या लोगों की चेन बनाकर बेचने के लिए तैयार हैं. दिल्ली के विशाल इंटरप्राइजेज के एक रिप्रजेंटेटिव ने बताया कि ऑनलाइन पटाखा खरीदने के लिए आपको कम से कम 5000 रूपये का आर्डर प्लेस करना होगा और उसका स्क्रीन शॉट भेजना होगा. आपको आधा या पूरा पैसा अडवांस में देना पड़ेगा वो भी पेटीएम या अन्य किसी ई-वॉलिट के जरिए करनी होगी.

एक पटखा कारोबारी का कहना है कि हमें तो अपना स्टॉक किया गया माल ख़त्म करने की जरुरत है. कोर्ट का आदेश अगर ऐसा ही बना रहता है तो हम भी अपना कोई तरीका निकालेंगे. हम पूरे साल इसलिए बचत करते हैं ताकि दिवाली में दुकान सजा सकें, लेकिन अचानक लगे इस बैन ने हमें बहुत विपरीत स्थिति में डाल दिया है.

वहीँ दिल्ली पुलिस का कहना है कि हम पूरी तरह से तैयार है. अगर कोई भी ऑनलाइन पटाखे खरीदते या बेचते पाया गया तो उसके खिलाफ़ कार्यवाही की जायेगी. दिल्ली के कारोबारी भी अब नुकसान को कम करने के लिए ऑनलाइन पटाखे बेचने के लिए तैयार हैं. दीवाली के पहले कारोबारी और व्यापारी बड़ी मात्रा में पटाखे का स्टाक जमा कर लिए थे और अब बिक्री पर रोक लगने से इन्हें बड़ा नुकसान होने वाला है.

What do you think?

-1 points
Upvote Downvote

Total votes: 1

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 1

Downvotes percentage: 100.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खाताधारक हैं? तो आप फिर से मुश्किल में हैं, क्योंकि इसके बिना अब नहीं निकाल पाएंगे पैसे

कश्मीर में जुल्म की कहानी बयाँ करतीं ‘आधी विधवाएं’, पढ़कर रौंगटे खड़े हो जाएंगे !