in

जब पाकिस्तान में मुस्लमान बने अजीत डोभाल को एक दाढ़ी वाले ने पहचान लिया !

भारत के वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के खतरनाक कारनामों के सामने जेम्स बांड के किस्से भी फीके पड़ जाते हैं. वे भारत के ऐसे एकमात्र नागरिक हैं जिन्हें शांतिकाल में दिया जाने वाले भारत का दूसरा सबसे बड़ा पुरस्कार कीर्ति चक्र दिया गया है. पीएम मोदी भी उनपर बहुत भरोसा करते हैं.

आज जो वीडियो हम आपको दिखाने जा रहे हैं उसमें NSA अजीत डोभाल पाकिस्तान में उनके साथ हुए एक रोचक किस्से का जिक्र कर रहे हैं. एक पत्रकार ने जब उनसे कहा कि पाकिस्तान में हुआ कोई रोचक किस्सा बताइए तो अजीत डोभाल ने बताया कि एक बार एक पाकिस्तानी ने उन्हें देखकर ही पहचान लिया कि वो हिन्दू हैं.

Image result for जब पाकिस्तान में मुस्लमान बने अजीत डोभाल को एक दाढ़ी वाले ने पहचान लिया !

इस पाकिस्तानी शख्स ने अजीत डोभाल जी को अपने पास बुलाया और उनको देखते ही बोला कि तुम हिन्दू हो. अजीत जी को इस बात से हैरानी हुई कि आखिर उस आदमी ने उन्हें पहचाना कैसे.

Image result for जब पाकिस्तान में मुस्लमान बने अजीत डोभाल को एक दाढ़ी वाले ने पहचान लिया !

फिर उस आदमी ने उन्हें अपने पास बैठाया और उनसे बात की. इस सारे वार्तालाप के बारे में अजीत डोभाल ने बताया. वीडियो में सुनें पूरा किस्सा.

देखें वीडियो

जनवरी 2005 में खुफिया ब्यूरो के प्रमुख के पद से सेवानिवृत्त डोभाल, साल 1968 बैच के आईपीएस अधिकारी रहे हैं. मूलत: उत्‍तराखंड के पौड़ी गढ़वाल से आने वाले अजीत डोभाल ने अजमेर मिलिट्री स्‍कूल से पढ़ाई की है और आगरा विवि से अर्थशास्‍त्र में एमएम किया है.
वे केरल कैडर से 1968 में आईपीएस अधिकारी के रूप में चुनकर आए हैं. कुछ साल वर्दी में बिताने के बाद, डोभाल ने 33 वर्ष से अधिक समय खुफिया अधिकारी के तौर पर बिताए और इस दौरान वह पूर्वोत्तर, जम्मू कश्मीर और पंजाब में तैनात रहे.

ये 4 लोग चाह कर भी धनवान नहीं हो सकते, कहीं आप भी तो इनमे से एक नहीं?

तहर्रुष जमाई, इस्लाम का एक ऐसा घिनौना खेल जिसमे खेलते है औरत के जिस्म से और करते है सामूहिक बलात्कार,वीडियो देख आपके रोंगटे खड़े हो जायेगे