in

मेरे 12 साल की सेक्स लाइफ खत्म हो गयी जब मैंने इंदिरा गाँधी को किसी दुसरे के साथ देखा :एम ओ मथाई

जब भी प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी की बात होती है तो बहुत से कांग्रेसी उन्हें “भारत की आयरन लेडी” के नाम से संबोधित करते है|इंदिरा गाँधी की जिंदगी के ऐसे बहुत से पहलू जिनका लोगों को ज्ञात भी नही है|ऐसा ही एक किस्सा है उनका और एम ओ मथाई का|

एम ओ मथाई, भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के प्राइवेट सेक्रेटरी थे|उन्होंने 1946 से 1959 तक नेहरू के स्पेशल असिस्टेंट के तोर पे काम किया है| पर नेहरू के स्पेशल सेक्रेटरी इंदिरा गाँधी के लिए कुछ ज्यादा ही स्पेशल हो गये |उनकी इंदिरा गाँधी से नजदीकियां बहुत बड़ गयी| एम ओ मथाई ने अपनी किताब “Reminiscences of the Nehru Age” के एक अध्याय ‘SHE’ में इस बारे में जिक्र किया था जिसे बाद में वहां से हटा लिया गया था|

मथाई और इंदिरा गाँधी का सम्बन्ध इतना गहरा था की इस बात ने इंदिरा के घर पर भी तनावपूर्ण स्तिथि बना दी थी| मथाई 12 साल तक इंदिरा गाँधी के प्रेमी रहे है और उनका रिश्ता इतना घनिष्ठ था की एक बार तो इंदिरा गर्भवती होगयी थी पर इंदिरा ने बाद में एबॉर्शन करवा लिया था|

मथाई पहली बार इंदिरा से उनके पुश्तैनी घर में मिले थे| इंदिरा चाहती थी की मथाई उन्हें ड्राइविंग करना सिखाये तो मथाई ने उन्हें सिखाना शुरू करदिया|अक्सर इंदिरा मथाई से उन्हें सिनेमा लेके जाने के लिए कहती थी| साथ रहते रहते इंदिरा को मथाई से बेहद प्यार हो गया और उन्होंने एक दिन मथाई से अपने प्यार का इज़हार किया|

thequint2F2016-062F0b9166f3-1346-4430-b320-ef66fa0566b42FM_Id_375656_Indira_Sanjay.jpg (380×260)

मथाई के मन में उस वक़्त ऐसा कुछ नही था| उन्होंने इंदिरा से कहा की दो वजह से उनके मन में ऐसा कुछ नही था, एक तो उन्होंने कभी शादीशुदा इस्त्रियों के साथ ऐसा कभी सोचा नही और दूसरा ये की  इंदिरा के पिता के प्रति उनकी वफ़ादारी के चलते उन्होंने कभी ऐसा नही सोचा|दुसरे कारण से इंदिरा को गुस्सा आया और उन्होंने कहा की मेरे पिता का इससे क्या लेना देना है क्या मैं बच्ची हूँ |

history_indira_gandhi_on_east_pakistan_speech_sf_still_624x352.jpg (624×352)

उसके बाद जितना ज्यादा से ज्यादा वक़्त हो पता था इंदिरा मथाई के साथ बिताती थी| और एक दिन वो मथाई को अपने कमरे में लेगयी और उन्हें कहनी लगी की  “मैं तुम्हारे बेहद करीब होना चाहती हूँ तुमसे अपनी नजदीकियां और गहराना चाहती हूँ तब मथाई ने उन्हें कहा की उन्हें इससे पहले इस तरह का कोई अनुभव नही है तो इंदिरा गाँधी ने उन्हें दो किताबें पड़ने के लिए दी जिनमे से एक “Dr Abrahim tone About Sex And Female Anatomy” थी|

इंदिरा गाँधी ने मथाई को प्यार से भूपत नाम दिया था और मथाई ने उन्हें पुतली| इंदिरा हमेशा मथाई को प्यार से पकड़ती थी और बस एक ही बात कहती थी की “OH BHUPAT I LOVE YOU”.मथाई कहते है की उन्हें सेक्स क्या होता इस बात का बिलकुल एहसास नही था जब तक वे इंदिरा से नही मिले थे|

इतने प्यार के बावजूद भी वे क्यूँ एक न हुए ?

मथाई और इंदिरा में इतना प्यार होने के बावजूद भी क्यूँ वे एक दुसरे से अलग होगये| क्यूँ मथाई ने इंदिरा से दुरी बना ली| क्या थी इसकी वजह,क्या इसकी वजह इंदिरा थी ,उसके पिता से वफ़ादारी या कोई और अन्य कारण|इसकी वजह कोई और कारण नही बल्कि इन्दिरा खुद ही थी, इंदिरा का रिश्ता केवल एक ही पुरुष के साथ नहीं था|

एक दिन जब मथाई इंदिरा गाँधी से मिलने आये तो उन्होंने इंदिरा और धिरेंदर ब्रह्मचारी को एक साथ देखा| धिरेंदर ब्रह्मचारी इंदिरा के योग गुरु थे|ये मथाई और इंदिरा के रिश्ते का आखरी शन था|

ये सारी जानकारी मथाई की ऑटोबायोग्राफी “Reminiscences of the Nehru Age”  के एक अध्याय ‘SHE’ में से ली गयी है| पोस्टकार्ड न्यूज़ इस ऑटोबायोग्राफी में दी गयी किसी गलत जानकारी के लिए  जिम्मेदार नही है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

माँ कमरे में बैठकर अपने सामने बेटी की शादी की पहली रात मनवाती है, यहां की ये रस्म जानकर चौंक जायेंगे

अगर आपको भी सपने में नज़र आयें हो ये जानवर तो समझ जाइये कि जल्द ही..